Wednesday , September 26 2018
Loading...
Breaking News

लेख विचार

महागठबंधन की राह आसान नहीं

उपेन्द्र प्रसाद भारतीय जनता पार्टी को सत्ता से बाहर करने के लिए जिस महागठबंधन पर भरोसा किया जा रहा है, उसका उत्तर प्रदे-रु39या में सफल होना बेहद जरूरी है। इसका कारण यह है कि उत्तर प्रदे-रु39या लोकसभा में 80 सांसद भेजता है और 2014 के चुनाव में इसने भाजपा के ...

Read More »

नई लाइन पर मोदी

पिछले लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी ने केवल बहुसंख्यक मतदाताओं के बलबूते सरकार बनाने का जो मंसूबा खड़ा किया उसमें इस बात का अंतरनिहित भय था कि बिना अल्पसंख्यकों को लिए इस मंसूबे को पूरा करना संभव नहीं है। इसी असंभव को संभव करने के लिए नरेंद्र मोदी ने सबका ...

Read More »

माल्या-जेटली मुलाकात पर जवाब की अपेक्षा

पिछले कुछ दिनों से एनपीए शब्द काफी चलन में आ गया है। एनपीए यानी नान परफार्मिग असेट, बैंकिंग प्रक्रिया की एक शब्दावली है। जो एक तरह से डूबे हुए कर्ज का वर्णन है। दरअसल बैंकों के लोन को तब एनपीए में शामिल कर लिया जाता है, जब तय तिथि से ...

Read More »

इवीएम पर बेवजह की बहस

आशुतोष चतुर्वेदी जब भी चुनाव नजदीक आते हैं, इवीएम का जिन्न बाहर आ जाता है. जैसे-जैसे तीन राज्यों में विधानसभा और लोकसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं, कुछेक दलों ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (इवीएम) को मुद्दा बनाना शुरू कर दिया है. हाल में चुनाव आयोग ने इवीएम को लेकर सर्वदलीय ...

Read More »

ऐसे नहीं मिल पाएगा, एलजीबीटी, को बराबरी का दर्जा

पुष्परंजन जिधर नजर डालिए, एलजीबीटी की विजय पर हर्ष का मंजर। जो भी टीवी चैनल खोलिए झूमते-गाते, विजय गाथा सुनाते थर्ड जेंडर के समर्थक। शुक्रवार को अखबारों के पन्ने श्विक्टरीश् से सराबोर! गोया, देश को दूसरी आजादी हासिल हुई हो। मगर, क्या यह सब काफी है? यह तो सुप्रीम कोर्ट ...

Read More »

सही पोषण से देश रोशन

डॉ मधुलिका जोनाथन प्रमुख, झारखंड यूनिसेफ बच्चे के जन्म के प्रथम एक हजार दिन के दौरान पर्याप्त पोषण-गर्भधारण से लेकर दूसरे वर्ष तक, न केवल बच्चे को जीवित रहने तथा बढ़ने में मदद करता है, बल्कि उनके पूर्ण शारीरिक और मानसिक विकास में भी मदद करता है. लैंसेट रिपोर्ट-2018 के ...

Read More »

रिजर्व बैंक ने बताया नोटबंदी का सच

रिजर्व बैंक की वार्षिक रिपोर्ट में कहा गया है कि नवंबर, 2016 में नोटबंदी लागू होने के बाद बंद किए गए 500 और 1,000 रुपये के नोटों का 99.3 प्रतिशत बैंको के पास वापस आ गया है। रिजर्व बैंक के मुताबिक नोटबंदी के समय 500 और 1,000 रुपये के 15.41 ...

Read More »

अर्बन नक्सल

विक्रम सिंघल अभी दो दिन पहले हुए बुद्धिजीवियों और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की देश भर से हुई गिरफ्तारियों ने बहुत से प्रगतिशील लोगों को सकते में डाल दिया है। एक तरफ जहां उनकी इस सरकार के प्रति चिढ़ को एक और पुष्टि मिली वहीं एक प्रकार के अविश्वास ने उन्हें बाधित ...

Read More »

दिवालिया होने की कगार पर 157 सार्वजनिक कम्पनियाॅ

प्रेम शर्मा सार्वजनिक क्षेत्र की कम्पनियो ंके बारे में कैग की ताजा रिपोर्ट चैंकानेवाली है। अधिकांश कम्पनियां घाटे में चल रही हैं। इसका आंकड़ा एक लाख करोड़ को पार कर गया है। केन्द्र सरकार के स्वामित्व में चलने वाली इन कम्पनियों को वर्ष २०१६-१७ में ३० हजार करोड़ रुपये का ...

Read More »

न तो कहीं खीर पक रही है और न ही खिचड़ी

उपेन्द्र प्रसाद बिहार में राजनैतिक गठजोड़ आने वाले दिनों मे कौन सा रूप लेगा, इसके बारे में तरह तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। राजनैतिक पर्यवेक्षक राजनेतओं के बयाने में उस गठजोड़ की -हजयलक देखना चाहते हैं और अपने अपने तरीके से उनका वि-रु39यले-ुनवजयाण करते हैं। इस समय उपेन्द्र ...

Read More »