Sunday , January 20 2019
Loading...
Breaking News

लेख विचार

सवर्ण आरक्षण

विक्रम सिंघल प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी छवि को रहस्यमय बनाये रखने में बड़ी मेहनत की है। इसके लिए वे अक्सर ऐसे निर्णय और घो-ुनवजयाणा ले कर आते हैं जिसकी कल्पना तो लोगों में होती है पर उसकी आगाही का कोई अंदाजा नहीं होता। नोटबंदी, सर्जिकल स्ट्राइक, योगी आदित्यनाथ का मुख्यमंत्री ...

Read More »

फिर चुनाव के लिए मंदिर जाप

राजेंद्र -रु39यार्मा आखिरकार वही हो रहा है, जिसका अनुमान था। मध्यप्रदे-रु39या और मिजोरम में विधानसभाई चुनाव के लिए प्रचार बंद होने तक अयोध्या में राम मंदिर का मुद्दा बाकायदा, भाजपा के प्रचार के केंद्र में आ चुका था। बे-रु39याक, 25 नवंबर को अयोध्या में और नागपुर समेत दे-रु39या के कई ...

Read More »

जम्मू-ंउचयक-रु39यमीर में नौकर-रु39यााही का एजेंडा लागू करने की को-िरु39या-रु39या

-रु39यो-ुनवजया नारायण सिंह यह क्या कर दिया सत्यपाल मलिक ने! जम्मू-ंउचयक-रु39यमीर के राज्यपाल ने उन लोगों को निरा-रु39या किया है जिनको उस दिन बहुत खु-रु39याी हुई थी जिन दिन वे जम्मू-ंउचयक-रु39यमीर के राज्यपाल बनाए गए थे। उनमें से कुछ पत्रकारों ने जो लिखा था आज ठीक उसका उलटा हो गया ...

Read More »

अफीम के उपयोग की ब-सजय़ती प्रवृत्ति

मोहन गुरुस्वामी अर्थ-रु39याास्त्री कारोबार के लिहाज से अवैध ड्रग का व्यापार इस वक्त दुनिया का संभवतः अकेला सबसे बड़ा व्यवसाय है. इंटरने-रु39यानल नारकोटिक्स कंट्रोल बोर्ड की एक रिपोर्ट के मुताबिक, इस समय यह व्यवसाय 500 बिलियन डॉलर का है. अमेरिका न-रु39याीले पदार्थों का दुनिया का सबसे बड़ा आयातक दे-रु39या है, ...

Read More »

योगी जी, फैजाबाद और अयोध्या में तो कोई लाग-ंउचयडांट तक नहीं थी!

कृ-ुनवजयण प्रताप सिंह 1995 में समाजवादी और बहुजन समाज पार्टियों का महत्वाकांक्षी गठबंधन टूटने के बाद भारतीय जनता पार्टी के समर्थन से न सिर्फ उत्तर प्रदे-रु39या बल्कि दे-रु39या की पहली दलित महिला मुख्यमंत्री बनीं मायावती ने अपनी दलित अस्मिता की राजनीति को नयी बुलन्दियां देने के लिए 29 सितम्बर, 1995 ...

Read More »

मातृत्व लाभ हर महिला का अधिकार

ज्यां द्रेज विजिटिंग प्रोफेसर,रांची विश्वविद्यालय बच्चों का पोषण, स्वास्थ्य और उनका भविष्य मां के पेट में निर्धारित होता है. अगर मां कुपोषित और बीमार होगी, तो बच्चे भी पीड़ित होंगे. गर्भावस्था के दौरान पोषण, दवा और आराम सब समय पर मिले, यह न केवल महिलाओं के हित की बात है, ...

Read More »

श्रीलंका के घमासान पर रहे नजर

डॉ. रहीस सिंह किसी भी दे-रु39या की सुरक्षा, प्रगति में उसके पड़ोसियों की स्थिति, प्रकृति एवं व्यवहार की भी अहम भूमिका हो सकती है। कारण यह है कि वे -रु39यरिंग फेंस(सुरक्षात्मक घेरा) के रूप में भी प्रयुक्त हो सकते हैं, एक अवरोधक दीवार भी बन सकते हैं और किसी दु-रु39यमन ...

Read More »

बिहार और उप्र के प्रवासी मजदूर आखिर कहां जाएं?

डा. गौरी-रु39यांकर राजहंस पिछले दिनों गुजरात में जिस तरह से बिहार और उत्तर प्रदे-रु39या के प्रवासी मजदूरों को तंग करके पलायन करने के लिए मजबूर किया गया वह वास्तव में एक गंभीर समस्या है। यदि किसी एक व्यक्ति ने कोई जघन्य अपराध किया था तो उसे तुरन्त जेल में डालना ...

Read More »

और ब-सजय़े करदाताओं की संख्या

संदीप बामजई आर्थिक मामलों के जानकार नवंबर, 2016 में हुई नोटबंदी के नकारात्मक पहलुओं को तो हर कोई जानता है, लेकिन इसके कुछ सकारात्मक पहलू भी हैं, जिन्हें हम सबको जानना चाहिए. नोटबंदी का सबसे जबर्दस्त सकारात्मक पहलू यह रहा कि इस दौरान डेटा माइनिंग खूब हुई. इस डेटा माइनिंग ...

Read More »

‘मीटू’ का सही अर्थ

कुमार प्रशांत गांधीवादी चिंतक बीते दिनों मोदी सरकार के उस मंत्री का इस्तीफा हो गया, जिसका निष्कासन होना चाहिए था. जो काम जब और जिस तरह होना चाहिए, वह तभी और उसी तरह नहीं होता है, तो वह अर्थहीन भी हो जाता है और श्रीहीन भी. विदेश राज्यमंत्री मुबश्शिर जावेद ...

Read More »