Tuesday , May 21 2019
Loading...
Breaking News

ममता समेत टीएमसी के कई नेताओं ने बदली अपनी तस्वीरें

लोकसभा चुनाव(lok sabha elections 2019) के अतिंम चरण का मतदान 19 मई को होने वाला है। इन चुनावों से पहले पश्चिम बंगाल(West bengal) में हिंसा अपने चरम पर पहुंच गई है। कोलकाता में मंगलवार को अमित शाह के रोड़ में हुई हिंसा के अब इस मामले में तूल पकड़ लिया है। इस हिंसा के दौरान दार्शनिक और लेखक ईश्वरचंद विद्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने से सियासी गलियारों में एक नया विवाद शुरू हो गया है। इस विवाद के बीच राज्य की सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने ईश्वरचंद विद्यासागर फोटो को अपने फेसबुक और ट्विटर की डीपी(डिस्प्ले पिक्चर) बनाया है।

मंगलवार को कोलकाता में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं और टीएमसी समर्थकों के बीच झड़प हुई थी। बीजेपी पर आरोप लग रहे हैं कि इस झड़प के दौरान उसके कार्यकर्ताओं ने ईश्वर चंद्र विद्यासागर की एक प्रतिमा के साथ तोड़फोड़ की थी। माना जा रहा है कि ममता बनर्जी ने ईश्वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा टूटने के विरोध में ही ट्विटर और फेसबुक पर अपनी प्रोफाइल पिक्चर बदलकर विद्यासागर की तस्वीर लगाई है।

विरोध स्वरूप अपनी डीपी में विद्यासागर की फोटो लगाई

टीएमसी के कई नेताओं ने विरोध स्वरूप अपनी डीपी में विद्यासागर की फोटो लगाई है। शाह की रैली से पहले हुई इस हिंसा के लिए टीएमसी और बीजेपी एक-दूसरे पर लगातार आरोप लगा रहे हैं। बीजेपी ने इस मामले की शिकायत चुनाव आयोग से की है। इसी बीच ईश्वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा तोड़े जाने के विरोध में ममता बनर्जी ने विरोध रैली निकालने का ऐलान भी किया है। ममता ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा, बीजेपी रैली में शामिल कुछ गुंडों ने विद्यासागर कॉलेज पर हंगामा किया। हम इसका करारा जवाब देंगे, क्या वे जानते हैं विद्यासागर कौन हैं? ये घटना शर्मनाक है। कोलकाता में हिंसा फैलाने के लिए बीजेपी बाहर से लोगों को लाई।

रोड शो के दौरान भाजपा और टीएमसी समर्थकों के बीच हिंसक झड़पें हुईं थी

बता दे कि, कोलकाता में अमित शाह के रोड शो के दौरान भाजपा और टीएमसी समर्थकों के बीच हिंसक झड़पें हुईं थी। हिंसा उस भड़क उठी थी जब विद्यासागर कॉलेज के भीतर से अज्ञात लोगों ने उनके काफिले पर पथराव किया, जिससे दोनों पार्टियों के समर्थकों के बीच झड़पें शुरू हो गईं। जिस वाहन पर शाह सवार थे उस पर डंडे फेके गए और भाजपा समर्थकों पर पथराव भी किया गया। हालांकि अमित शाह को किसी तरह की चोट नहीं आई थी और सुरक्षाबल उन्हें सुरक्षित स्थान पर ले गए। एकतरफ जहां टीएमसी इस हिंसा का आरोप बीजेपी पर लगा रही है तो वहीं बीजेपी इस हिंसा के लिए ममता बनर्जी को जिम्मेदार बता रही है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *