Wednesday , March 27 2019
Loading...
Breaking News

 चाइना के हिंदुस्तान के विरूद्ध रुख अपनाने पर पीएम मोदी ने क्यों कुछ नहीं कहा

मसूद अजहर के मामले में चाइना के हिंदुस्तान के विरूद्ध रुख पर कांग्रेस पार्टी अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है उन्‍होंने विवादित ट्वीट कर बोला कि पीएम नरेंद्र मोदी, चाइना के राष्‍ट्रपति शी चिनफिंग से भय गए चाइना के हिंदुस्तान के विरूद्ध रुख अपनाने पर पीएम मोदी ने एक शब्‍द भी नहीं कहा गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘कमजोर मोदी शी चिनफिंग से डरे हुए हैं जब चाइना हिंदुस्तान के विरूद्ध कदम उठाता है तो उनके मुंह से एक शब्द नहीं निकलता है ‘ उन्होंने दावा किया, ‘मोदी की चाइनाकूटनीति : गुजरात में शी के साथ झूला झूलना, दिल्ली में गले लगाना, चाइना में घुटने टेक देना रही

चीन ने फिर डाला अड़ंगा
उल्‍लेखनीय है कि पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के मुखिया मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित कराने की हिंदुस्तान की प्रयास को एक  झटका लगा हैदरअसल, चाइना ने संयुक्त देश सुरक्षा परिषद में उसे  संयुक्त देश सुरक्षा परिषद की ‘‘1267 अल कायदा सैंक्शन्स कमेटी’’ के तहत अजहर को आतंकी घोषित करने का प्रस्ताव 27 फरवरी को फ्रांस, ब्रिटेन  अमेरिका ने लाया था

गौरतलब है कि 14 फरवरी को जम्मू व कश्मीर के पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद के फिदायीन ने सीआरपीएफ के काफिले पर हमला किया था, जिसमें 40 जवानों की मौत हो गई थीइस हमले की वजह से हिंदुस्तान  पाक के बीच तनाव पैदा हो गया था कमेटी के सदस्यों के पास प्रस्ताव पर असहमति जताने के लिए 10 काम दिन का वक्त था यह अविध बुधवार को (न्यूयॉर्क के) लोकल समय दोपहर तीन बजे (भारतीय समयनुसार बृहस्पतिवार रात साढ़े 12 बजे) समाप्त होनी थीसंयुक्त देश में एक राजनयिक ने बताया कि समयसीमा समाप्त होने से अच्छा पहले चाइना ने प्रस्ताव पर ‘तकनीकी रोक’ लगा दी राजनयिक ने बोला कि चाइना ने प्रस्ताव की पड़ताल करने के लिए  वक्त मांगा है यह तकनीकी रोक छह महीनों के लिए वैध है  इसे आगे तीन महीने के लिए बढ़ाया जा सकता है

भारत ने जताई निराशा
इस घटनाक्रम पर रिएक्शन देते हुए नई दिल्ली में विदेश मंत्रालय ने इस पर (घटनाक्रम पर) निराशा जताई मंत्रालय ने कहा, ‘‘ हम निराश हैं लेकिन हम सभी उपलब्ध विकल्पों पर कार्य करते रहेंगे, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि इंडियन नागरिकों पर हुए हमलों में शामिल आतंकियों को न्याय के कठघरे में खड़ा किया जाए ’’

मंत्रालय ने बोला कि हम प्रस्ताव लाने वाले सदस्य देशों के कोशिश के लिए आभारी हैं साथ में सुरक्षा परिषद के अन्य सदस्यों  गैर सदस्यों के भी आभारी हैं जिन्होंने इस प्रयास में साथ दिया मंत्रालय ने चाइना का नाम लिए बिना बोला कि कमेटी अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने वाले प्रस्ताव पर कोई फैसला नहीं कर सकी क्योंकि एक सदस्य राष्ट्र ने प्रस्ताव रोक दिया बीते 10 वर्ष में संयुक्त देश में अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित कराने का यह चौथा प्रस्ताव था कमेटी आम सहमति से फैसला करती है

संयुक्त देश में नियुक्त हिंदुस्तान के राजदूत एवं स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरूद्दीन ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘बड़े, छोटे  कई1 बड़े राष्ट्र ने रोक दिया, फिर से1 छोटा सिग्नल @आतंक के विरूद्ध संयुक्त राष्ट्र कई राष्ट्रों का आभार – बड़े  छोटे – जो अभूतपूर्व संख्या में इस कवायद में शामिल हुए ’’ उल्लेखनीय है कि सारी नजरें चाइना पर थी क्योंकि वह पहले भी संयुक्त देश द्वारा अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित कराने की हिंदुस्तान की कोशिशों में रोड़ा अटका चुका है

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *