Wednesday , March 27 2019
Loading...
Breaking News

राफेल डील मामले में दायर पुनर्विचार पर सुप्रीम न्यायालय आज सुनवाई करेगा

राफेल डील मामले में दायर पुनर्विचार पर सुप्रीम न्यायालय आज सुनवाई करेगा चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ आज दोपहर 3 बजे मामले की सुनवाई करेगी दरअसल,केंद्र गवर्नमेंट ने बुधवार को सुप्रीम न्यायालय में नया हलफनामा दाखिल कर बोला था कि केंद्र गवर्नमेंट की बिना मंजूरी के संवेदनशील दस्तावेजों की फोटोकॉपी की गई 

इन दस्तावेजों की अनाधिकृत फोटोकॉपी के जरिये की गई चोरी ने राष्ट्र की सुरक्षा, सम्प्रभुता  दूसरे राष्ट्रों के साथ दोस्ताना सम्बधों को बुरी तरह प्रभावित किया है केंद्र ने बोला था कि पुनर्विचार याचिका के साथ सलग्न दस्तावेज एयरक्राफ्ट की युद्ध क्षमता से जुड़े है याचिका कर्ताओं ने बेहद गोपीनाय जानकारी को लीक किया है रक्षा मंत्रालय ने आगे हलफनामे में बोला था कि राफेल मामले में दायर पुर्नविचार याचिका सार्वजनिक रूप से सबको उपलब्ध है, हमारे प्रतिद्वंद्वी या दुश्मनों की भी इस तक पहुंच है ये राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे में डालना वाला है

इस वक्त सुप्रीम न्यायालय राफेल डील के विरूद्ध दायर पुनर्विचार याचिकाओं पर सुनवाई कर रहा है पिछली सुनवाई में याचिकाकर्ता प्रशांत भूषण ने सौदे के बारे मे रक्षा मंत्रालय की उस फ़ाइल नोटिंग को पेश किया जिसे हिन्दू अख़बार ने छापा था, लेकिन अटार्नी जनरल ने इस पर असहमति जताई  बोला था कि ये चोरीकिया हुआ है जांच चल रही है मुक़दमा किया जाएगा अटार्नी जनरल ने रक्षा मंत्रालय के नोट को संज्ञान मे लेने का विरोध किया था  बोला था कि यह सीक्रेट दस्तावेज है राफेल डील मामले में आप नेता संजय सिंह की पुनर्विचार याचिका पर सुप्रीम न्यायालय का सुनवाई से इंकार किया था  बोला था कि न्यायपालिका के विरूद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी के चलते संजय सिंह की पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई नहीं की जाएगी न्यायालय ने संजय सिंह से पूछा क्यों न आपकेखिलाफ़ अवमानना की कार्रवाई चलाई जाए? न्यायालय ने संजय सिंह से जवाब मांगा था उधर, अर्टनी जनरल केके वेणुगोपाल ने न्यायालय बाताया था कि सीक्रेट दस्तावेज लीक करने के मसले पर दो अखबारों के विरूद्ध कठोर कार्रवाई करेंगे

सुप्रीम न्यायालय ने आप नेता संजय सिंह के एडवोकेट संजय हेगड़े से पूछा था कि आप किस पार्टी के हैं? हेगड़े ने बोला था कि आम आदमी पार्टी CJI ने बोला था कि हम आपकी याचिका नहीं सुनेंगे, आपने हमारे निर्णय पर अवांछित टिप्पणी की थी हम निश्चित रूप से इस बारे में कोई कार्रवाई करेंगे अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने बोला था कि जिन दस्तावेजों पर ‘द हिंदू’ ने समाचार छापी, उन पर साफ तौर पर ‘गोपनीय’ लिखा था इन्हें सार्वजनिक नहीं किया जा सकता इसकी उपेक्षा कर समाचार लिखी गई ये ऑफिशियल सीक्रेट्स एक्ट के विरूद्ध है, इन्हीं दस्तावेजों को न्यायालय में भी पेश कर दिया गया

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *