Wednesday , September 26 2018
Loading...
Breaking News

आज ख़त्म हो जाएगा हार्दिक पटेल का उपवास

पाटीदार नेता हार्दिक पटेल बुधवार को दो पाटीदार सामाजिक-धार्मिक निकायों-खोदल्धम  उमियाधम के नेताओं के हाथों से ‘फास्ट टू डेथ’ खत्म कर देंगे हार्दिकके करीबी सहयोगी  पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पीएएएस) के संयोजकों में से एक मनोज पनारा ने एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए इसकी घोषणा की पनारा ने बोला कि “हार्दिक अपने उपवास जारी रखने के लिए दृढ़ संकल्प थे, लेकिन, हमने उनसे उपवास तोड़ने  इस गवर्नमेंट के विरूद्ध लड़ने का अनुरोध किया  हमारी मांग को स्वीकार करते हुए, हार्दिक ने खोदल्धम  उमियादम के नेताओं के हाथों से 3 बजे अपना उपवास तोड़ने का निर्णय किया है

पाटीदार समुदाय की दो मुख्य मांगों आरक्षण  किसानों को ऋणों में छूट के साथ, हार्दिक ने अहमदाबाद में वैष्णोदेवी सर्किल के पास अपने आवास पर 25 अगस्त से ‘फास्ट टू डेथ’ प्रारम्भ किया था बाद में, उन्होंने कारागार से पीएएएस संयोजक अल्पेश कथिरिया को रिहा करने की मांग भी जोड़ा था, जो गुजरात गवर्नमेंट द्वारा उनके विरूद्ध पंजीकृत राजद्रोह के मामले में 19 अगस्त से कारागार में हैं हार्दिक के इस अनशन के दौरान प्रकाश अम्बेडकर, शत्रुघ्न सिन्हा, यशवंत सिन्हा, हरीश रावत, जिग्नेश मेवानी इत्यादि नेता उनसे मिलने पहुंचे थे लेकिन, गुजरात गवर्नमेंट ने उनके साथ कोई चर्चा नहीं की एक बार, गवर्नमेंट ने हार्दिक  राज्य गवर्नमेंट के बीच बातचीत में मध्यस्थता करने के लिए विश्व उमिया फाउंडेशन के सी के पटेल जैसे कुछ पाटीदार संगठनों के कुछ नेताओं से बोला था, किन्तु पीएएएस ने सी के पटेल द्वारा मध्यस्थता से इंकार कर दिया

Loading...

अपने अनशन के दौरान हार्दिक ने अपनी कुछ इच्छाएं भी जाहिर की थी, उन्होंने मरणोपरांत नेत्र दान करने का निर्णय लिया था, साथ ही 2015 में आरक्षण आंदोलन में मारे गए 14 पाटीदार युवाओं के अपने माता-पिता, बहन  परिवारों के बीच अपनी संपत्ति वितरित करने की घोषणा की थी 7 सितम्बर को सांस लेने में  गुर्दों में कठिनाई होने के कारण हार्दिक को सोला सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां डॉक्टरों ने उनका इलाज करते हुए उन्हें स्वस्थ करार दिया था, जिसके बाद हार्दिक खुद एसजीपीवी अस्पताल में भर्ती हो गए थे, कुछ दिन वहां रहकर हार्दिक ने अपने घर से ही अनशन जारी रखने का फैसला लिया था

loading...
Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *